+91 - 9897447515 / 9319571909
 
info@bagonwaledevta.in
 
     
Samiti Activities
Our Objectives
Objectives (i) पूर्त प्रयोजन के लिए कार्य करेगी

(क) श्री बागों वाले देवता जी की असीम कृपा से हर प्रकार से सर्वजन हितकारी, एवं सर्वजन कल्याणकारी कार्य कलापों को करना करकवाना

(ख) भगवान शिव परिवार एवं श्री बागेश्वर बाबा जी की प्रतिदिन पूजा, अर्चना , आराधना, वंदन, आरती आदि करना - करवाना एवं तत्संबंधित पूर्ण प्रबंध करना

(ग) श्री बागों वाले देवता जी के भक्तों व् सेवकों के हितार्थ गौशाला, अन्नक्षेत्र , विश्रामालय, सत्संग भवन, धर्मशाला, वृद्ध आश्रम, धर्मार्थ औषधालय एवं चिकित्सालय आदि की स्थापना करना एवं उन्हें संचालित करना। तथा पितरों का सम्मान व् उनकी श्रद्धा पूर्वक पूजा करना

(घ) दैवीय एवं प्राकृतिक आपदाओं जैसे आग लगना, भूकम्प व् जलजला आना, अतिवृष्टि, अनावृष्टि, सूखा, भुखमरी. बीमारी, महामारी, भूस्खलन जैसी त्रासदियों के अवसरों पर जरुरतमंदो की हर संभव सहायता करना।

(च) गरीब, अपांग, अपाहिज, विकलांग व् अपने अपने परिवारो से उपेक्षित व् निष्कासित बुजुर्गों की हर प्रकार से मदद एवं संरक्षण करना।

(छ) दीन - दुखियों की सेवा करना।

(ii) विज्ञानं, साहित्य या ललित कलाओं की प्रोन्नति के लिए शिक्षण के लिए सहायता करेगी।

(क) भारतीय संस्कृति एवं धार्मिक परम्पराओं की पुनर्स्थापना हेतु, वेदों उपनिषदों, ग्रंथों के अध्ययन हेतु वेदपाठशालाओं , विद्यालयों, महाविद्यालयों आदि की स्थापना करना एवं उन्हें स्थापित करना।

(ख) सम्पूर्ण समाज को शिक्षित करने के लिए हर प्रकार के शिक्षण संस्थान, स्कूल, कॉलेजेस खोलना एवं उन्हें जनहितार्थ संचालित कर शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाना।

(ग) जरुरतमंदो, अबलाओं, विधवाओं, एवं परित्यक्तया नारियों के उत्थानार्थ, सिलाई - कढ़ाई , केन्द्रो, कंप्यूटर केन्द्रो, बुटीक व् ब्यूटी पार्लर केन्द्रो, वाद्यंत्र शिक्षण संस्थान एवं संगीत विद्यालाओं, जिम केन्द्रो आदि की स्थापना करना तथा उन्हें बिना जाती पति के भेदभाव के संचालित करना।

(III) - उपयोक्त जानकारी के प्रसार, राजनीती शिक्षा के प्रसार के लिए कार्य करेगी

(क) श्री बागेश्वर बाबा जी के भक्तों एवं सेवकों को स्वावलम्बी एवं आत्म - निर्भर बनाने के प्रयोजनार्थ उन्हें हर प्रकार की जीवनपयोगी जानकारियां मुहैयाँ करवाना, तथा स्वरोजगार अपनाने के लिए वित्तीय संसधानो के विषय में बतलाना व् तत्सम्बन्धी प्रबँधब करना करवाना।

(ख) शासन के समाज कल्याण विभाग द्वारा, तथा अन्य विभागों द्वारा संचालित की जाने वाली जान कल्याणकारी योजनाओ के अनुरूप कार्य करना , तथा तत्संबंधित जानकारियां जान साधारण को देना व् हर प्रकार से जनसाधारण के भला करना।

(iV) सदस्यों के साधारण प्रयोग के लिए या जनता के लिए खुले पुस्तकालयों या वाचनालयों के प्रतिष्ठान या अनुरक्षण के लिए कार्य करेगी।

(क) अपने प्रचीनन सनातन धर्म से संदर्भित, पौराणिक वेदो, उपनिषदों, ऋचाओंं, ग्रंथों महापुरुसों की गाथाओं, विभिन्न प्रकार की आरती संग्रहों व् भजनो की पुस्तकों के पुस्कालयों, एवं नैतिकता की पाठ पढने वाली पत्र पत्रिकाओं के वाचनालयों आदि की स्थापना करना , तथा उन्हें सर्वजन हितार्थ संचालित करना तथा प्रकाशन करवाना।

(V) रंग चित्रों और कलाओं कृतियों के लोक संग्रहालयों और गैलरियों के लिए कार्य करेगी

(क) सुन्दर रंग - चित्रों एवं कलाकृतियों के संग्रहालयों, गैलरियों आदि के माध्यम से प्रायरन को शुद्ध रखने के प्रयोजनार्थ, आम जान साधारण को वृक्षारोपण ,, नर्सरियों, फुलवारियों, पार्को, शुलभ शौचालयों तथा हर प्रकार की हरियाली से सम्बंधित बातों को महत्त्व को बतलाना , तथा स्वच्छता के अच्छे परिणामो को दर्शाते हुवे, गन्दगी की दुष्परिणामों से भी आम जनता को परिचित करवाना।

(ख) सुन्दर रंग चित्रों की प्रदर्शनियों, एवं नुक्कड़ नाटिकाओं, शिविरों , संगोष्ठियों, विशाल कथाओं , प्रवचनों सत्संगों आदि के माध्यम से समाज व्याप्त कुरुतिओं, नशाखोरी, नारी उत्पीड़न, दहेजब प्रथा, भ्रूण हत्या, व्यभिचार, भ्रष्टाचार आदि को दूर रखना तथा समाज में मानवीय गुणों का संचार करना।

(VI) नैसर्गिक इतिहास के संकलन के लिए कार्य करेगी

(क) समस्त समाज के चारित्रिक, आध्यात्मिक आर्थिक , स्वस्थयिक एवं सामजिक उन्नति हेतु प्राचीन उपयोगी, ऐतिहासिक प्रामाणिक पुस्तकों, पत्र पत्रिकाओं का संकलन कर , उनका प्रकाशन करवाकर श्री बागेश्वर बाबा जी के भक्तों एवं सेवकों तथा जन साधारण को वितरित करवाना।

(VII) यांत्रिक तथा दार्शनिक अविष्कारों, दस्तावेजों अभिकल्पनाओं के लिए कार्य करेगी

(क) अपने ग्राम व् क्षेत्र के चंहुमुखी विकास हेतु, हर संभव प्रयास करना , तथा क्षेत्रवासियों की सुविधार्थ शाशन की मदद से क्षेत्र में प्याऊं, स्ट्रीट लाइट्स, पीने के पानी के नलो की रोड्स , सीवरेज एम्बुलेंस तथा अन्य चिकित्सीय सुविधायें उपलब्ध करवाना।

(ख) (ग्राम व् क्षेत्र के कृषकों, श्रमिकों , बुनकरों, शिल्पियों , दस्तकारों के उत्थानार्थ उन्हें नवीन आधुनिक तकनीकियों से अवगत करवाना तथा पशुपालन, फार्मिंग जड़ी बूटियों , वनौषधियों आदि के उत्तम उत्पादन से संदर्भित बातों को बतलाना , तर्था प्रेरमा स्त्रोत बनकर उनकी मदद करना - करवाना।

(ग) उपयुर्क्त उद्देशयों की पूर्ति हेतु हर संभव प्रयास करना तथा अन्य सभी प्रकार के जान हितकारी कार्यो को करना करवाना संस्था के उपरोक्त सभी उद्देश्य सोसाइटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट संख्या - २१, सन - १८६० की धरा १ व् २ के अनुसार पूर्ण रूप से चेरिटेबल एवं अव्यवसायिक होंगे।

संस्था के प्रबंधकारिणी समिति के पदाधिकारियों एवं सदस्यों के नाम पते, पद तथा व्यवसाय जिनको संस्था के स्मृति पत्र तथा नियमावली के अनुसार संस्था का कार्यभार सौंपा गया है
   
Social Plugins :